Monday, 1 May 2017

नींव के पत्थर

"सर...कुछ फिनिशिंग वर्क बाकी है..पर आप निश्चिन्त रहें 28 अप्रैल तक हमारा मल्टीप्लेक्स पब्लिक के लिए बिल्कुल तैयार हो चुका होगा..और सर..29 को फ्राइडे है तो नई फिल्म्स के शो भी हमें मिल जाएंगे...एवरीथिंग इज अंडर कंट्रोल..सर ..वी विल लॉन्च इट विथ अ ब्लास्ट" प्रोजेक्ट हेड माथुर ने चहकते हुए कहा

सिंघानिया साहब ने पूरी बात सुनी और धीरे से बस इतना ही बोले "हम्म" उनके हम्म से भी माथुर का उत्साह कम नहीं हुआ और वो बॉस को इंप्रेस करने के लिए आगे बोला "सर..पाँच स्क्रीन वाला अपना ये मल्टीप्लेक्स शहर का इकलौता और अनोखा मल्टीप्लेक्स होगा...ओपेनिंग डे के शो के लिए शहर के सभी बड़े हॉट शॉट्स को जल्द ही इनविटेशन भेज दिया जायेगा और सर मुंबई से कुछ स्टार भी....."

"माथुर...छोटे लेवल के सभी लेबर्स के आखिरी दो दिनों की पेमेंट रोक लेना..कहना कि पेमेंट ओपनिंग के दिन मिलेगी"सिंघानिया ने माथुर की चहकती बात को काटते हुए गंभीर स्वर में कहा और पाइप से धुआँ उगलते हुए आगे कहा "और हाँ..माथुर ओपनिंग 29 को नहीं 1 को होगी"

"ओह्ह लगता है महाराज जी ने 1 तारीख का मुहूर्त दिया है.. नो..नो प्रॉब्लम सर..एक को कर लेते हैं..लेकिन सर इन छोटे लोगों की पेमेंट अगर रोक दी तो परेशानी..ओके..ओके.. सर..आई गॉट इट सर...उस दिन अगर कोई छोटा मोटा काम निकल आया तो इन्हें फिर से बुलाना आसान नहीं होता..बट जब..पेमेंट फँसी होगी तो बुलाने से झट से आ जायेंगे..ब्रिलियंट सर.. इन नालायकों को ऐसे ही कंट्रोल में रखना चाहिए..सुपर्ब आईडिया" माथुर ने हाँ के अंदाज में बार बार सर हिलाते हुए कहा

1 मई को बड़ी धूमधाम से सिंघानिया मल्टीप्लेक्स की ओपनिंग होती है शहर के राजनीतिज्ञ,माननीय सांसद महोदय,मंत्री,बड़े व्यापारी,अफसर, मीडिया,बुद्धिजीवियों आदि के साथ शहर के उच्च तथा उच्च मध्य वर्ग के निमंत्रित लोग मुंबई से आए अभिनेता-अभिनेत्रियों के साथ जश्न का आनंद ले रहे हैं अलग अलग स्क्रीन जिन्हें ऑडी एक,ऑडी दो का नाम दिया गया है उनमें नई रिलीज हुई फिल्मों का शो 15-15 मिनट के अंतर पे रखा गया है

"द सिंघानियां ग्रुप आए हुए सभी गेस्ट्स का वेलकम करता है और शुक्रिया अदा करता है..फ्रेंड्स थोड़ी ही देर में फिल्म के शो शुरू होने वाले हैं आप सब इन फिल्मस का लुत्फ़ जरूर उठाइयेगा..
सबसे पहले ऑडी वन में शो शुरू होगा..आप सब ऑडी टू और ऑडीज थ्री..फोर..एंड फाइव में रेस्पेक्ट फुल्ली इनवाइट किए जाएंगे... पर सबसे पहले मैं ऑडी-वन के शो के लिए बहुत ही खास लोगों को आमंत्रित करना चाहता हूँ..आप सब उनका तालियों के साथ स्वागत कीजिये" कहकर सिंघानिया ने हॉल के दरवाजे की ओर इशारा किया सबने उधर देखा इस मल्टीप्लेक्स को बनाने वाले सभी मजदूर हाथों में चार दिनों की पेमेंट के लिफाफे पकड़े ऑडी एक में प्रवेश कर रहे थे।

नींव के पत्थरों पर न प्लास्टर होता है और न हीं रंग रोगन पर पूरी इमारत का बोझा ढोने वाले नींव के पत्थरों का पूजन अवश्य होना चाहिए।

-तुषारापात®

No comments:

Post a Comment