Saturday, 28 November 2015

फेसबुकिया नशा

फेसबुक का नशा इतना है कि पूछिये मत,देखिये ये सच्चा किस्सा-

एक फंक्शन में जाने को मैं और पत्नी जी तैयार हो रहे थे

पत्नी जी -"आप बताइये कि कौन सी साड़ी पहनू ?वरना कहोगे ऐसे कैसे तैयार होके चल रही हो"

मैं -" अरे वो चिकन वाली सफ़ेद और नीली साड़ी है न ,जो कमल की सगाई में तुमने पहनी थी बड़ी जंच रहीं थी उस दिन तुम,ऐसा करो आज वही पहन लो "

पत्नी जी - "पर वो तो राधिका भाभी देख चुकी हैं वो भी आ रही हैं इस पार्टी में,मन ही मन सोचेंगी की मैं साड़ी रिपीट कर रही हूँ"

मैं -"अरे तो कोई नहीं राधिका भाभी को 'ब्लाक' कर देना फिर नहीं देख पाएंगी"

-तुषारापात®™ (जरा मुस्कुराइए)