Monday, 11 January 2016

वजीर

"वजीर वजीर.."
"जी हुज़ूर..."
"इन दोनों में चोर का पता लगाओ"

ये चार पुर्चियों वाला खेल हम सबने अपने बचपन में जरूर खेला होगा,ऐसा ही एक खेल है विधु विनोद चोपड़ा की नई फ़िल्म 'वजीर' में बस अंतर इतना है कि इसमें आपको वजीर का पता लगाना है फ़िल्म में सस्पेंस बहुत साधारण रखा गया है शायद इसलिए कि सभी इसे आराम से समझ सकें

मूल कहानी विधु विनोद चोपड़ा की लिखी है और बढ़िया लिखी गई है
पूरी फिल्म शतरंज की बाजी तरह बिछाई गई है अमिताभ बच्चन साहब की अदाकारी बेहतरीन है और वो ही इस पूरी फ़िल्म की रीढ़ हैं बाकी फरहान अख्तर भी अपनी बढ़िया छाप छोड़ने में सफल रहे हैं कसा हुआ निर्देशन और सस्पेंस आपको फिल्म से जोड़े रहता है हाँ आखिर के बीस पच्चीस मिनट जो सबसे अहम होते हैं किसी भी फिल्म खासतौर पे सस्पेंसिव मूवी के लिए वहाँ फिल्म ढीली पड़ जाती है जो थोड़ा सा जायका फीका करती है

देश के दुश्मनो का पीछा करते हुए एक एंटी टेररिस्ट स्क्वाड ऑफिसर अपनी मासूम बच्ची को खो देता है उसका दुःख उसकी पीड़ा आपके मन को हिला के रख देगी आगे वो कैसे अमिताभ बच्चन अभिनीत चरित्र पंडित जी के संपर्क में आता है कैसे वो समाज में छुपे सफ़ेदपोश
आतंकवादियों की तह तक पहुँचता है और कैसे पंडित जी के व्यक्तिगत बदले को पूर्ण करता है पूरी फिल्म इसी पर दौड़ती जाती है

निर्माता/कहानीकार ने कोई भी धार्मिक टकराव न हो इसके लिए पड़ी चालाकी से एक मुस्लिम नकारात्मक चरित्र यजाद कुरैशी के सामने एक मुस्लिम नायक दानिश अली को ही रखा है वरना ये फिल्म पंडित जी और कुरैशी के टकराव के कारण हिन्दू मुस्लिम टकराव की कहानी बन सकती थी

यजाद कुरैशी जैसे चरित्र वास्तविक और यहाँ इस आभासी संसार (फेसबुक) में भरे पड़े हैं जो मुँह पे और अपनी पोस्ट में तो बड़ी भाईचारे वाली बातें कहते हैं पर असल में हद से ज्यादा कट्टर और नफरत फ़ैलाने वाले होते हैं जब आप ये फिल्म देखेंगे तो ऐसे कई फेसबुकिया चरित्र आपके सामने खुद ब खुद आ जायेंगे इस चरित्र के लिए ये फिल्म आप जरूर देखें

अमिताभ साहब के निभाए चरित्र पंडित जी का ये डॉयलाग मुझे बहुत पसंद आया :
"चाल का कोई नहीं चालचलन है
दोगलापन ही यहाँ एक नियम है"

ऐसे ही दोहरे व्यक्तितव वाले लोगों से आप स्वयं को बचाएं रखें उनकी चिकनी चुपड़ी बातों में न फंसे अपने विवेक का प्रयोग करें इसी कामना के साथ 'वजीर' को ये शब्दों का एक अदना प्यादा अपनी शह देकर सफेदपोशों को मात देता है।

-तुषारापात®™