Thursday, 10 September 2015

पंख

सपनो के पंख
बचपन का ये हवाई सफ़र
फिर नहीं आएगा
उड़ लो जी भर के आज
कल इन्हीं परों पे
काबिलियत का बस्ता आ जायेगा

-तुषारापात®™