Sunday, 13 September 2015

कुत्ता कौन ?

ग्यारहवें माले के फ्लैट से 'भट्टाचार्या' साहब का पालतू कुत्ता पेडिग्री को मन लगाकर खूब चबा चबा के खाकर अपनी भूख शांत कर बिल्डिंग से बाहर के फूटपाथ पे आया ।
शंका समाधान के उपरांत उसने देखा की कुछ उसके जैसे ही चार पैर, एक दुमधारी जीव लुटे पिटे भूखे नंगे से 'फुटपाथ' पे लोट रहे हैं उसने कड़क आवाज़ में उनसे पूछा "ऐ कौन हो तुम लोग और यहाँ क्या कर रहे हो चोरी के इरादे से हो क्या ? लुच्चे कहीं के"

फूटपाथ पे लेते एक कुत्ते ने डरते डरते कहा "दोस्त हम भी तुम्हारी तरह ही कुत्ते हैं बस देसी हैं आवारा हैं गन्दा संदा खा के यहाँ फूटपाथ पे पड़े रात बिता रहे हैं"

भट्टाचार्या के कुत्ते ने कहा "कमीनो मुझे बेवक़ूफ़ बनाते हो अगर तुम कुत्ते होते तो मेरी तरह AC लगे फ्लैट में होते यहाँ फुटपाथ पे नहीं,अच्छी तरह जानता हूँ मैं फुटपाथ पे भूखे नंगे सोने वाले 'आदमी' होते हैं कुत्ते नहीं, चलो भागो यहाँ से"

-तुषारापात®™

No comments:

Post a Comment